देवभूमि का रहस्यमयी कुंड, यहां रावण ने भगवान शिव को दी अपने 9 सिरों की आहुति

image: dasholi-where-ravana-did-his-prayer
अलकनंदा और मन्दाकिनी नदियों के संगम पर बसा नंदप्रयाग पांच धार्मिक प्रयागों में से दूसरा प्रयाग है। यहां वो जगह आज भी मौजूद है, जहां रावण ने भगवान शिव की तपस्या की थी, हवनकुंड में अपने 9 सिरों की आहुति दी थी...